विशिष्टता बनाम अनुकूलन

glenn'a adaptation vs specificity

कोच ग्लेन पेंडले की मेज से

हर कोई जानता है कि शरीर को ट्रेनिंग के अनुकूल कैसे बनाया जाता है। बस एक ऐसा व्यायाम करें जिसे आपने पहले नहीं किया है, या किसी ऐसी रेप श्रेणी में कई सेट करें जिसे आप आम तौर पर इस्तेमाल नहीं करते। आपको थोड़ी जकड़न और पीड़ा होगी, लेकिन अगले कुछ दिनों में पीड़ा दूर हो जाएगी, और जब आप व्यायाम फिर से दोहराते हैं, तो आपको हर बार कम दर्द होता है। अंततः इस ट्रेनिंग को दोहराने पर आपको किसी भी प्रकार की पीड़ा होनी बंद हो जाएगी। अब आपका शरीर इस ट्रेनिंग के अनुकूल हो चुका है।

लेकिन एक वेटलिफ्टर के रूप में, हम कुछ ही कसरतों का बार-बार अभ्यास करते हैं। अनुकूलन के लिए यह बिल्कुल सही नहीं है। लेकिन अगर आप अधिकतम भार के साथ स्नैच और क्लीन & जर्क का बहुधा अभ्यास करते हैं तो, यह विशिष्टता के लिए आदर्श है। आपके शरीर का हर अनुकूलन भारी स्नैच और क्लीन & जर्क के काम के लिए बिल्कुल उपयुक्त होगा।

यदि आप इस मिश्रण में भारी Squats को भी जोड़ते हैं, तो निश्चित रूप से आपकी टांगों को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी। लेकिन, बढ़ी हुई टांगों की ताकत स्नैच और क्लीन & जर्क के लिए ज़्यादा उपयुक्त नहीं होगी। Squats और स्नैच की गति समान नहीं होती, टांगों के बल वक्र तथा स्नैच के बल वक्र में अंतर होता है, और स्नैच व Squats की ‘रेंज ऑफ़ मोशन’ भी अलग है। यह बात प्रत्येक सहायक व्यायाम के साथ समान रूप से लागू होती है। प्रतियोगिता लिफ्टों में भारी एकल रेप्स (Singles) के अलावा अन्य चीजें करने से हमें अपने शरीर के ट्रेनिंग सम्बन्धी अनुकूलन में वृद्धि का अवसर मिलता है, लेकिन उन सहायक कसरतों द्वारा होने वाले ट्रेनिंग अनुकूलन स्नैच और क्लीन & जर्क की अधिकतम परफॉरमेंस के लिए ज़्यादा अनुकूल नहीं होते। इसलिए अनुकूलन और विशिष्टता के बीच एक तालमेल होता है। अगर एक के लिए कुछ महत है तो वह दूसरे के लिए बुरा हो सकता है।

ाबाजिएव* अभ्यास की एक छोटी सूची के साथ प्रशिक्षण के प्रस्तावक थे। वे रूसियों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले 50 या 60 अभ्यासों को कम करते गए, जब तक कि केवल प्रतियोगिता लिफ्टें, फ्रंट स्क्वाट्स, और प्रतिस्पर्धी लिफ्टों के पावर संस्करण ही बचे। लेकिन वह भी उनके लिए काफी नहीं था। उनका मत था कि एक सही प्रशिक्षण प्रणाली में सिर्फ स्नैच और क्लीन & जर्क के अधिकतम एकल रेप्स (Maximal Singles) होने चाहिए, इसके अलावा कुछ भी और नहीं। न Squats, न Front Squats, न ही कोई Pull कसरत। वह अपने इस सिद्धांत को इस्तेमाल करना चाहते थे पर उनका कहना था की उन्हें वेतन देने वाले लोग एक सिद्धहस्त प्रणाली के लिए उन्हें तनख्वाह दे रहे थे और इस सिद्धांत पर उन्हें खुद पूरा यकीन नहीं था कि बिना Squats वाला यह सिस्टम काम करेगा या नहीं। उनकी Squatsयुक्त व्यवस्था निश्चित रूप से काम करती थी, इसलिए परिणामों को सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने अपने अनुभूत सिस्टम को ही जारी रखा।

Glenn Pendlay
 ग्लेन पेंडले
 ग्लेन पेंडले स्तर -5 यू.एस.ए भारोत्तोलन कोच के रूप में मान्यता प्राप्त एक विश्व-स्तरीय भारोत्तोलन कोच है, जो कि एक ओलंपिक कोच के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका की सबसे अधिक मान्यता है। ग्लेन ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 90 से अधिक राष्ट्रीय चैंपियन, 20 से अधिक पदक विजेताओं का निर्माण किया है, और उनके एथलीटों ने एक ही वर्ष में 10 अमेरिकी रिकॉर्ड तोड़े हैं।

ग्लेन ने इस आलेख को प्रकाशित करने की अनुमति देकर ISST में योगदान देने के लिए सहमति दी है जो कि मूल रूप से ग्लेन के ब्लॉग पर प्रकाशित हुआ था।

Follow Glenn Pendlay on
FACEBOOK
TWITTER

स्रोत

Glenn’s Orginal Article

*Ivan Nikolov Abadjiev

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *